Latest Love and Sad Status For Facebook

Read the latest fb status of different different categories like Love status, friendship status, emotional fb status etc.

तलाश ना कर मुझे,
ज़मीन ओ आसमान की गर्दिशों में..
अगर तेरे दिल में नहीं हूँ तो कहीं नहीं हूँ मैं..

दिल से लिखे जाते है खत इश्क़- मोहोब्बत वाले
सिर्फ कागज़-कलम चाहिए ये सोचना गलत है..

Latest Awesome Friendship Status

एक दरवाजे पर लिखा था “कोई भीतर मत आना, आज मैं दुखी हूँ..
पढ़े लिखे, समझदार लोग वापस लौट गए ।
भीतर वही गया जो “दोस्त” था..

लिखकर लाया था कोरे क़ागज पर परेशानियां
दोस्तों ने जहाज़ बनाकर उड़ाना सिखा दिया..

वो मुझसे बेहतर की तलाश मे निकला था
अफसोस मगर वो … अब तक लौटा नही …

कोशिश हज़ार की के इसे रोक लूँ मगर,
ठहरी हुई घड़ी में भी.. ठहरा नहीं ये वक्त।

कांटो से दिल लगाने मे हर्ज क्या है हुजूर
फुल तो सांसो की गर्मी भी नहीं सह सकता..

Diwali Status
❤ सुनो …….❤
🌹#धनतेरस आ रहा है तुम मेरा #दिल🌹
*खरीदना ……
और मैं तुम्हारा #इश्क़…🌹

बहुत नुक्स निकालते हैं वो..
इस कदर हम में,
जैसे कि उन्हें तो खुदा चाहिए था
और.. हम तो इन्सान निकले,

JO TUM NAHI TO KUCH BHI NAHI
♥तमन्नायें है…. हसरतें है….आरजू है…
मगर उन ख्वाईशों में…..
जो तुम नही, तो कुछ भी नही. ..!

मंजिलें है…. सफर है…..रास्ते है…
मगर उन कारवां में….
ज़ो तुम नही, तो कुछ भी नही…..!

वादियाँ है…. बारिशें है… झरनें है….
मगर उन फिजाओं में…
ज़ो तुम नही, तो कुछ भी नही…..!

यादें है…..नींदें है…. ख्वाब है…
मगर उन नजारों में….
ज़ो तुम नही, तो कुछ भी नही… !

फिजायें है…तस्सवूर है….ख्वाईशें है….
मगर उन हवाओं में….
ज़ो तुम नही, तो कुछ भी नही.. …!

मौजें है… किश्ती है…. साहिल है…
मगर उन घटाओं में….
जो तुम नही, तो कुछ भी नही. ….!♥♥

दीवारें छोटी होती थीं लेकिन पर्दा होता था
ताले की ईजाद से पहले सिर्फ़ भरोसा होता था..

मांगना ही छोड़ दिया हमने वक़्त किसी से,
क्या पता उनके पास इन्कार का भी वक़्त ना हो…!!!

कोई चराग़ जलाता नहीं सलीक़े से
मगर सभी को शिकायत हवा से है..

किसी से प्रेम करने की कोई वजह नहीं होती….
प्रेम तो सिर्फ प्रेम है, यदि वजह है तो वो प्रेम नहीं पसंद है….

नाज़ुक मिज़ाज है वो परी साज़ कुछ इस क़दर….
पायल जो पहनी पांव में छम छम से डर गयी….

रहमतों की कमी नहीं ‘मालिक के ख़ज़ाने में💕
झांकना खुद की झोली में है कि कहीं कोई ‘सुराख’ तो नहीं..

हर लम्हा तेरी याद का पैगाम दे रहा है…
अब तो तेरा इश्क मेरी जान ले रहा है…❣❣❣

हमनें अपनी साँसों पर उनका नाम लिख लिया;
नहीं जानते थे कि हमनें कुछ गलत किया;
वो प्यार का वादा करके हमसे मुकर गए;
ख़ैर उनकी बेवाफाई से हमनें कुछ तो सबक लिया!

कर देना माफ़, अगर दुखाया हो दिल तुम्हारा…
क्या पता कफ़न में लिपटा मिले, कल ये यार तुम्हारा….!!

तेरी चुप्पी अगर तेरी कोई मज़बूरी है;
तो रहने दे इश्क़ कौन सा ज़रूरी है…

गीले आँखों से बरसते सैलाब को देख
जाती हुई बारिस ने भी रुक कर साथ देना तय कर लिया है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *